itslv 02 10 10 137661272
हास्य व्यंग्य

कातिलाना प्रपोज

वैलेंटाइन डे पर एक गांव का लडका जब साधारण तरीके से तीन चार लडकियों को प्रपोज करके थक गया तो उसने सोचा कि चलो अब अपने गांव वाले कातिल शायराना अन्दाज में किसी को प्रपोज करता हूँ। उसने देखा कि एक लडकी गार्डेन की बेंच पर अकेली बैठी है । ये वह लडकी है जिसे… Continue reading कातिलाना प्रपोज

Www1121564986
गीत, हास्य व्यंग्य

इक साधू बंजारा- राम रहीम

मैं था इक साधू बंजारा मुझे हुस्न ने कुछ ऐसा मारा विख्यात से मैं कुख्यात हुआ बरबाद हुआ मैं बेचारा सब मेरे बस में थे और खुद को मैं कहता था ईश्वर लेकिन जो आँधी आई तो न बचा पाया अपना ही घर सच्चाई की चिंगारी ने पहले मेरा ही घर जारा मैं था इक… Continue reading इक साधू बंजारा- राम रहीम