बातें दिलों की

मेरी हालत समझ लो यार मेरे हालात समझ लो
खुद का भी समझाओ मेरे भी जजबात समझ लो
कितनी चाहत है मेरे दिल में यार तुम्हारी खातिर
मुँह से क्या बोलूं दिल से दिल की बात समझ लो
###
तेरा मेरा मिलना इक अफसाना ना बन जाए
मेरा अपना मन मुझसे बेगाना ना बन जाए
पलट के ऐसे पीछे से तू देख न मुझको हँस के
दिल मेरा नादान तेरा दीवाना ना बन जाए
###
सचमुच तो हम मिल न सकेंगे ओ मेरी जानेजाना
ऐसा करना आज रात तुम ख्वाबों में ही आना
चाँदनी रात में दुनिया से छुपकर सपनों की छत पर
साथ रहेंगे हम और तुम जैसे शअमा परवाना
###
जब जब बातें करती हैं मेरी आँखों से तेरी आँखें
दिल पे होती हैं चाहत की बिन मौसम बरसातें
जिस दिन से आए हो मेरी जिन्दगी में उस दिन से
प्यारे लगने लगे हैं हर दिन प्यारी लगती हैं रातें
###
अपने बनकर बेगाने ऐ जान -ए-वफा मत होना
दिल में तुम रहते हो मेरे दिल से खफा मत होना
हो जाएं अब दूर भले ही मुझसे ये दुनिया वाले
तुम हो सिर्फ मेरे तुम मुझसे यार जुदा मत होना