आध्यात्मिक

माता रानी ने बुलवाया है

मन्दिर से भक्तों संदेशा आया है
चलो माता रानी ने बुलवाया है
धूप अगरबत्ती से महकी हवा
दरबार मैया का जब से सजा
हर ओर भक्ति नशा छाया है
मन्दिर से भक्तों संदेशा आया है
चलो माता रानी ने बुलवाया है
छोटा हो कोई या फिर हो बडा
दरबार में माँ के जो भी गया
झोलियाँ भरभर के ही लाया है
मन्दिर से भक्तों संदेशा आया है
चलो माता रानी ने बुलवाया है
बारिश में कैसे देखो लोगों पर
बादलों ने बरसाए पानी मगर
माता ने आशीष बरसाया है
मन्दिर से भक्तों संदेशा आया है
चलो माता रानी ने बुलवाया है
मन्दिर से भक्तों संदेशा आया है
चलो माता रानी ने बुलवाया है