तुम्हें चाहते हैं

न पूछो हमसे कि क्या चाहते हैं
तुम्हें चाहते हैं बस तुम्हें चाहते हैं
तेरे ख्वाब में ही गुजरती हैं रातें
तेरा नाम लेकर सुबह जागते हैं
जब भी उठाते हैं हाथ हम खुदा से
दुवाओं में तेरी वफा माँगते हैं
नहीं चाहिए हमको दुनिया की दौलत
हम बस तुम्हारी चाहत चाहते हैं
न पूछो हमसे कि क्या चाहते हैं
तुम्हें चाहते हैं बस तुम्हें चाहते हैं